डीएनएस (DNS)क्या है? जाने कैसे काम करता है !

डीएनएस (DNS)क्या है?

डीएनएस (DNS)क्या है?

दोस्तों आज के समय में ऐसा लगता है जैसे इंटरनेट के बिना कुछ भी संभव नहीं है, बॉलीवुड की बहुत सी मूवी में आपने यह डायलॉग सुना होगा कि इसकी मर्जी के बिना एक पत्ता भी नहीं हिल सकता वैसे ही इंटरनेट की दुनिया में डीएनएस यानी Domain Name System के बिना एक पत्ता भी नहीं हिल सकता।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now


दोस्तों आप सब में से हर कोई जो इंटरनेट उसे करता है डीएनएस का इस्तेमाल तो करता है परंतु डीएस क्या है और डीएनएस कैसे काम करता है इसके बारे में अभी तक अनभिज्ञ है।
आज इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि आखिर यह डीएनएस क्या है और यह कैसे काम करता है।
क्या है DNS?

डीएनएस (DNS)क्या है?


डीएस को समझने से पहले हमें कुछ टेक्निकल टर्म के बारे में जानकारी जरूर होनी चाहिए जैसे इंटरनेट ब्राउज़र, आईपी ऐड्रेस , Domain Name,Server सर्वर, Hosting इत्यादि।

6500mAh की बैटरी बैकअप के साथ शानदार POWERFUL 5G मोबाइल

  1. इंटरनेट ब्राउज़र

इंटरनेट ब्राउज़र की बात करें तो यह एक एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर है जो मोबाइल फोन और आपके पर्सनल कंप्यूटर में आप उपयोग करते हैं इसका उपयोग इंटरनेट पर उपलब्ध बहुत सारी वेबसाइट और वेब पेज को एक्सेस करने के लिए किया जाता है जैसे अगर आपको google.com पर जाकर कुछ सर्च करना है तो आपको अपने डेस्कटॉप कंप्यूटर या मोबाइल में वेब ब्राउजर एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर में जाकर सर्च बार में टाइप करना होगा।

डीएनएस (DNS)क्या है?

TELEGRAM GROUP JOIN HERE

  1. IP Address

आईपी ऐड्रेस हर एक डिवाइस का लॉजिकल ऐड्रेस होता है जिसके द्वारा उसे डिवाइस चाहे वह कंप्यूटर हो या मोबाइल हो या फिर कोई अन्य डिवाइस आईपी एड्रेस का उपयोग करके हम उसे एक्सेस कर सकते हैं। आईपी एड्रेस को कुछ इस प्रकार लिखा जाता है 192.16.19.3

  1. Domain Name

डोमेन नेम आपकी वेबसाइट का नाम होता है जैसे अभी आप wikytrends.com पर है तो यहां पर wikytrends.com इस वेबसाइट का डोमेन नाम है। अभी क्योंकि हमने समझा था कि हर एक कंप्यूटर अपना एक लॉजिकल ऐड्रेस रखता है जिसे हम आईपी एड्रेस कहते हैं आईपी एड्रेस को हम मनुष्य आसानी से याद नहीं रख पाते हैं इसलिए हम डोमेन नेम का उपयोग करते हैं क्योंकि यह इंग्लिश लैंग्वेज में होता है जो की आसानी से याद रखने योग्य है।

  1. Server सर्वर

Server और कुछ नहीं है बल्कि एक कंप्यूटर डिवाइस ही है जिसका उपयोग अन्य कंप्यूटर डिवाइसेज को सेवाएं प्रदान करने के लिए किया जाता है। सरवर कंप्यूटर एक अकेला कंप्यूटर भी हो सकता है या फिर बहुत सारे कंप्यूटर का एक समूह है भी हो सकता है मुख्यतः बड़े सर्वर जैसे google.com सुपर कंप्यूटर का उपयोग करते हैं।

कैसे काम करता है DNS

डीएनएस (DNS)क्या है?

जब भी हम अपने इंटरनेट ब्राउज़र में कोई भी क्वेरी डालते हैं जैसे हम सर्च कर रहे हैं wikytrends.com तो internet browser DNS resolver को एक क्वेरी भेजता है जिसमें wikytrends.com को एक्सेस करने की परमिशन इंटरनेट ब्राउज़र डीएनएस रिजॉल्वर से मांगता है डीएनएस रिजॉल्वर अपने Cache मेमोरी में उपलब्ध डाटा में चेक करता है की wikytrends.com डोमेन के लिए आईपी एड्रेस क्या है क्योंकि अंततः हम किसी भी कंप्यूटर को उसके आईपी एड्रेस से ही ऐक्सेस कर सकते है,

अगर कैश मेमोरी में wikytrends.com की आईपी एड्रेस मिल जाती है तो डीएनएस रिजॉल्व इस आईपी एड्रेस को ब्राउज़र को एक्सेस करने के लिए दे देता है और यूजर के सामने वह पेज ओपन हो जाता है जिसके लिए यूजर सर्च कर रहा था इसके अलावा अगर DNS resolver कैसे मेमोरी में अगर वह पेज जो यूजर एक्सेस करना चाह रहा है नहीं मिलता है तो डीएनएस सर्वर पर उपलब्ध डाटा में wikytrends.com के आईपी एड्रेस को ढूंढा जाता है जब डीएनएस सर्वर के डाटा में wikytrends.com का आईपी एड्रेस मिल जाता है

तो वहां से वह पेज जो यूजर ढूंढना चाह रहा है डीएनएस सर्वर द्वारा इंटरनेट ब्राउज़र को उपलब्ध करवा दिया जाता है और यह प्रक्रिया लगातार चलती रहती है।
अगर हम इंटरनेट पर जो कुछ भी सर्च कर रहे हैं उसके पीछे एक डीएनएस सर्वर लगा हुआ है जो हमारी क्वेरी को एनालाइज करके हमें रिक्वायर्ड पेज उपलब्ध करवाता रहता है।

Leave a Comment